12 प्रमुख मलेरिया के लक्षण कौनसे है ?

मलेरिया के लक्षण कौनसे है

मलेरिया क्या है और मलेरिया के लक्षण कौनसे है?

मलेरिया के लक्षण समझकर उसका इलाज करना बेहद जरुरी है.हर साल दुनियाभर में तकरीबन 30 से 60 करोड़ लोगो को मलेरिया की बिमारी होती है. उनमें से करीब करीब 10 लाख लोगो की मृत्यु हो जाती है.दुनिया की 40 प्रतिशत आबादी हर वक़्त मलेरिया के खौफ में जीती है.

यह भी पढ़िए :-

यह बिमारी प्लास्मोडियम नाम के एक खतरनाक परजीवी रोगाणु की वजह से होती है.यह परजीवी रोगाणु मच्छरों की एक विशिष्ट जाती में पाये जाते है.मच्छरों की इस जाती का नाम एनोफेलीज़ है.इस जाति के मादा मच्छर में प्लास्मोडियम रोगाणु होते हैं.जब यह मादा मच्छर किसी व्यक्ति को काटती है,तो मच्छर के काटे में लगे प्लास्मोडियम परजीवी रोगाणु इंसान के खुन में फ़ैल जाते है और इंसान को बिमार कर देते है.इसके बाद उस इंसान को बुखार आ जाता है और ध्यान न देने पर यह बुखार मलेरिया की बिमारी में तब्दील हो जाता है.मलेरिया की बिमारी बेहद खतरनाक होती है.सही समय पर इलाज न मिलनेसे इंसान की जान भी जा सकती है.

मलेरिया के लक्षण

शुरुआत में मलेरिया आम बुखार की तरह ही लगता है.इसलिए ज्यादातर लोग इसे साधारण बुखार समझकर इसे हलके में लेते है और यही लापरवाही उनकी जान पर बन आती है.मलेरिया के मच्छर काटने पर 7-10 दिनों के बिचमें मलेरिया के लक्षण सामने आने लगते है.मलेरिया के लक्षण को समझकर तुरंत इलाज करवाना चाहिए.मलेरिया के लक्षण बेहद साधारण होते है जिन्हें हम घरपर ही समझ सकते है.इस आर्टिकल में हम 12 मलेरिया के लक्षण बता रहे है.अगर आपको अपने आपमें या अपने परिवार के किसी सदस्य में यह लक्षण दिखाई दे तब आप भी बिना देर किए अस्पताल में जाकर जाँच करवा ले.

बुखार

मलेरिया के लक्षणमलेरिया के लक्षण में सबसे ज्यादा पाये जानेवाला लक्षण है बुखार.मलेरिया बिमारी की शुरुआत ही तेज बुखार के साथ होती है.मच्छर काटने के कुछ दिनो बाद इंसान को बुखार आता है.बादमे यह बुखार बढता ज्यादा है और मरीज की प्रतिकार शक्ति को ख़त्म कर देता है, जिसके वजह से प्लास्मोडियम को फैलने में मदत होती है.मलेरिया में आनेवाला बुखार आताजाता रहता है.यानि एक दिन बुखार आता है तो दूसरे दिन उतर जाता है. मलेरिया में दो तिन दिनों के अंतराल में बुखार आते रहता है.

पसीना

शुरुआत में बुखार की वजह से मलेरिया के मरीज के शरीर का तापमान बढ़ जाता है.जिसकी वजह से मरीज को बेहद अधिक मात्रा में पसीना आने लगता है.

बार बार प्यास लगना

बेहद ज्यादा मात्रा में पसीना आने से शरीर में पानी की कमी हो जाती है.इसी वजहसे मलेरिया के मरीज को बार बार प्यास लगती है.और पानी पिने के तुरंत बाद मरीज को ठण्ड लगने लगती है.

ठण्ड और कपकपी

ठण्ड और कपकपी मलेरिया के लक्षण है.मलेरिया मरीज के शरीर पर दोनों तरफ से आक्रमण होता है.एक तरफ बुखार की वजह से मरीज के शरीर का तापमान बढता है जिसकी वजह से मरीज को बेहद ज्यादा पसीना आता है.दूसरी तरफ इसी पसीने की वजह से मरीज के शरीर का तापमान घट जाता है और उसे बेहद ज्यादा ठण्ड लगती है.ठण्ड की वजह से मरीज का शरीर काँपने लगता है.

सिरदर्द

मलेरिया में मरीज को सिरदर्द होने लगता है.तेज बुखार,पसीना और ठण्ड की वजह से यह सिरदर्द और बढ़ जाता है.मलेरिया बिमारी के दौरान होनेवाला सिरदर्द किसी भी व्यक्ति को मानसिक रूप से कमजोर करने में सक्षम होता है.

आँखे लाल होना

मलेरिया के लक्षणतेज बुखार,ठंड, सिरदर्द की वजह से मलेरिया के मरीज को ठीक से नींद नहीं आती.इसी वजह से मरीज की आँखे लाल होंने लगती है.आँखे लाल होने की वजह से आँखो में जलन होना शुरू हो जाता है.

नाक से खून निकलना

मलेरिया के लक्षण में नाक से खून निकलना भी शामिल है.हलाकि सभी मरीजो में यह लक्षण नही पाया जाता.लेकिन बिमारी ज्यादा बढ़ने पर मरीज के नाक से खून निकलने लगता है.नाक से खून निकलने पर मरीज को तुरंत अस्पताल में भर्ती कराना जरुरी हो जाता है.

उल्टी

उल्टी होना मलेरिया के लक्षण में से एक है.शरीर में फैलने वाले प्लास्मोडियम की वजह से मरीज में शरीर की पाचनक्रिया कमजोर हो जाती है. जिसकी वजह से मरीज को बार बार उल्टी होती है.

दस्त

दस्त लगना भी प्रमुख मलेरिया के लक्षण में से एक है.दस्त लगने का कारण भी उल्टी होने की तरह ही है. पाचनक्रिया कमजोर होने की वजह से शरीर खाने को पेट से बाहर निकालने की कोशिश करता है.और इसी वजह से मलेरिया के मरीज को उल्टी और दस्त होते है.

थकान

मलेरिया के लक्षणउल्टी और दस्त की वजह से शरीर में ऐसा कुछ नही बचता जिससे शरीर को ताकत मिले.इसी कारण शरीर थक जाता है और मलेरिया के मरीज को थकान महसूस होती है.लापरवाही करने पर यह थकान इतनी भयानक हो जाती है,की मरीज को पानी का ग्लास उठाने में भी तकलीफ होती है.

घबराहट

घबराहट होना या जी मचलना मलेरिया के लक्षण में सबसे बड़ा मानसिक लक्षण है.मलेरिया मरीज को शारीरिक और साथ साथ मानसिक रूप से भी कमजोर करता है.बिमारी की वजह से एक ही जगह पर पड़े रहने से मरीज को बैचेनी होने लगती है.उसका जी घबराने लगता है.मरीज को लगता है की उसके साथ कुछ अनहोनी होने वाली है.

बेहोशी

तेज बुखार,ठण्ड,सिरदर्द,शरीर में थकान,आँखों में जलन जैसी समस्याओं की वजह से मरीज पूरी तरह से टूट जाता है.इन समस्यओ से हारकर मरीज बार बार बेहोश होने लगता है.

नोट :- यह थे प्रमुख मलेरिया के लक्षण.ऐसे मलेरिया के लक्षण नजर आने पर तुरंत अस्पताल में जांच कराना जरुरी होता है.लापरवाही बरतने पर इंसान की जान भी जा सकती है.

शेयर करे !