कैंसिल चेक क्या होता है? Cancel cheque kya hota hai?

Cancel cheque kya hota hai

Cancel cheque kya hota hai ?- कैंसिल चेक क्या है?

Cancel cheque kya hota hai – कैंसिल चेक आम चेक की तरह ही होता है. बस फरक इतना है की,कैंसिल चेक पर पेन से “cancelled” लिखा हुआ होता है.जिससे उस चेक की कीमत ख़त्म हो जाती है.यानी कैंसिल चेक का इस्तेमाल पैसों के भुगतान के लिए नही किया जा सकता.अब सवाल उठता है की जब चेक की कोई कीमत ही नहीं है. तो फिर उस चेक का क्या फायदा और ऐसे चेक का क्या इस्तेमाल है?

कैंसिल चेक का इस्तेमाल कहा होता है इस बारे में विस्तृत से जानेंगे.लेकिन पहले देख लेते है की किसी आम चेक को कैंसिल चेक कैसे बनाये.

Cancel cheque kya hota hai ? – कैंसिल चेक कैसे बनाये ?

Cancel cheque kya hota hai
एक्सिस बैंक का कैंसिल चेक

कैंसिल चेक बनाने के लिए आपको आपके चेकबुक में से एक आम चेक की जरुरत पड़ेगी. सबसे पहले अपने चेकबुक में से एक कोरा चेक फाड़ लीजिए.
अब इस चेक पर पेन से दो समांतर लकीरे खीच ले.उन्ह लकीरों के बिच में बड़े बड़े अक्षरो में “Cancelled” लिख दे.

कैंसिल लिखते समय ध्यान रखे की,आप खाते के नंबर या “एमआईसीआर” कोड के ऊपर कैंसिल ना लिखे.क्योंकि कैंसिल चेक पर यह दो चीजे साफ तौर पर दिखनी चाहिए.अगर आप इनपर ही कैंसिल लिखेंगे तो आगे वाले व्यक्ति या संस्था को आपका खाता नंबर और एमआईसीआर कोड पढने में दिक्कत होगी.

कैंसिल चेक बनाते समय ध्यान रखे की उसपर आप पैसे यानी रकम ना लिखे. साथ ही इस बातका भी ध्यान दे की कैंसिल चेक पर आप अपने हस्ताक्षर ना करे.कैंसिल चेक पर रकम और हस्ताक्षर की बिलकुल जरुरत नही होती है.

Cancel cheque kya hota hai ? – चेक पर क्या जानकारी होती है?

बैंक द्वारा जारी चेक पर खाताधारक का नाम,खाता नंबर, आईएफएससी कोड,एमआईसीआर कोड, ब्रांच का नाम,बैंक का नाम लिखा हुआ होता है.चेक के कई प्रकार के जिनमे आर्डर चेक, बेयरर चेक, ब्लेंक चेक, काउंटर चेक,स्टेल चेक, ओपन चेक,पोस्ट डेटेड चेक शामिल है.

Cancel cheque kya hota hai ? – कैंसिल चेक कहा इस्तेमाल होता है?

आजकल कैंसिल चेक हरवक्त माँगा जाता है. लोन से लेकर ईएमआई में कैंसिल चेक माँगा जाता है.वही ईपीएफ से लेकर इन्शुरन्स पॉलिसी लेते समाय कैंसिल चेक की जरुरत पड़ती है. निचे कुछ ऐसे परिस्थितिया बताई गयी है जहा आपको कैंसिल चेक माँगा जा सकता है.

  • कैंसिल चेक का इस्तेमाल इलेक्ट्रॉनिक क्लीयरेंस सर्विसेस में होता है. म्यूच्यूअल फंड्स जैसी सेवाओं में हर महीने आपके बैंक अकाउंट से पैसे निकाले जाते है. इसे इलेक्ट्रॉनिक क्लियरेंस सर्विसेस कहते है.
  • केवायसी (KYC) यानी “Know Your Customer” सेवा के दौरान कैंसिल चेक माँगा जाता है.
  • शेयर मार्किट में इनवेस्टमेंट के दौरान लगने वाले डिमैट खाता खोलते समय कैंसिल चेक की जरुरत होती है.
  • कार लोन,होम लोन,एजुकेशन लोन की ईएमआई भरते समय कैंसिल चेक जरुरी होता है.
  • ईपीएफ (EPF) यानि “Employment Provident Fund” निकालते समय कैंसिल चेक की जरुरत पड़ती है.
  • इन्शुरन्स पॉलिसी लेते समय कैंसिल चेक की जरुरत होती है.
शेयर करे !