हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट क्या होता है ? High Security Number Plate kya hai ?

High Security Number Plate kya hai?

High Security Number Plate kya hai? हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट क्या होता है?

High security number plate kya hai – हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट को “HSRP” यानि “हाई सिक्यूरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट” भी कहा जाता है.हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय यानि RTO द्वारा जारी किया गया स्टैंडर्ड नंबर प्लेट होता है.इस नंबर प्लेट में सुरक्षा के कुछ खास इंतेजाम किए गए है जो आम नंबर प्लेट में नही होते है.


यह भी पढ़िए :-


विस्तार से जानिए क्या होता है हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट ? – High Security Number Plate kya hai?

1 मई 2012 को भारत सरकार ने देशभर के RTO कार्यालय को हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट जारी करने का आदेश दिया था.इसके बाद से ही देशभर के वाहनों पर हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट लगाने का काम जारी है. सरकार ने साल 2019 तक सभी वाहनधारको को अपने वाहनों पर हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट लगाने की सूचना दी है.

High Security Number Plate kya hai
हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट पर लगा होलोग्राम

हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट एक खास तरह की नंबर प्लेट है.इस नंबर प्लेट के लिए खास तरह की सुरक्षा के इंतेजाम मुहैया करायी गयी है.हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट को एल्युमीनियम से बनाया जाता है.इस प्लेट पर गाड़ी के नंबर के साथ ही कुछ और जरुरी बाते लिखी होती है.हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट पर सात डिजिट का लेज़र कोड लगा होता है.साथ ही इस प्लेट पर एक होलोग्राम लगाया जाता है.यह होलोग्राम लंबे समय तक सुरक्षित रहता है और इसपर गाड़ी के इंजिन और चेसिस की जानकारी रहती है.साथ ही हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट पर नीले अक्षरों में “IND” लिखा हुआ होता है. गाड़ी के नंबर पर 45° के कोन पर “India” लिखा हुआ होता है.हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट गाड़ी के साथ स्नेप ऑन लॉक सिस्टम से जुड़ा होता है.इस सिस्टम की वजह से हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट को गाड़ी से अलग करना मुश्किल हो जाता है.

High Security Number Plate kya hai -हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट की खासियत

हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट दिखने में आम नंबर प्लेट से बेहतर दिखता है.हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट पर लगे होलोग्राम की वजह से यह आम प्लेट से सुरक्षित हो जाता है.ट्रैफिक पुलिस को ऐसे नंबर प्लेट से वाहनों पर नजर रखने में आसानी होती है.हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट को रात में देखना मुमकिन है.इसलिए ट्रैफिक पुलिस को इससे आसानी हो जाती है.साथ ही रात में इन प्लेट को कॅमेरा में कैद करना आसान हो जाता है,जिसकी वजह से सीसीटीवी में यह नंबर आसानी से देखे जा सकते है.आम नंबर प्लेट में यह मुमकिन नही है.

High Security Number Plate kya hai
स्नेप ऑन लॉक

हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट गाड़ी से स्नेप ऑन लॉक तकनीक से जुडी होती है.यह लॉक रिवेट की तरह होता है.जिसे निकालना मुश्किल होता है.एकबार इस लॉक को तोड़ने पर दोबारा उस जगह पर इसे फिरसे नही लगाया जा सकता.अगर कोई चोर गाड़ी चुराता है और हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट को निकालता है.तब चोर हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट की जगह दूसरी नकली प्लेट नही लगा सकता.जिसकी वजह से चोरी हुयी गाड़ी को आसानी से पहचाना जा सकता है.

हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट की वजह से देशभर के सभी RTO कार्यालयों में गाड़ियों की जानकारी डिजिटल रूप में जमा रखने की सहूलियत मिलती है.फिलहाल आम नंबर प्लेट के साथ ऐसा कर पाना मुश्किल है.

High Security Number Plate kya hai -हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट कहासे मिलता है?

High Security Number Plate kya hai
हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट को गाड़ी पर लगाते हुए RTO कर्मचारी

सरकारी नियम की वजह से मार्किट में आनेवाली हर गाड़ी में हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट पहलेसे मिलेगा.मतलब अगर कोई व्यक्ति नई गाड़ी खरीद रहा है, तो उसे गाड़ी के रजिस्ट्रेशन के साथ ही हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट मिलेगी.

पुरानी गाड़ियों के लिए हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट को सभी RTO कार्यालयों में लगाया जा सकता है.पुरानी गाड़ियों को हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट लगाने के लिए RTO कार्यालय में एक अर्जी भरनी पड़ती है.इसके 48 घंटो के भीतर नई हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट जारी कर दी जाती है.इस नयी प्लेट को सिर्फ RTO ऑफिस में लगाना अनिवार्य है.हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट को लगाने में मुश्किल से 5-10 मिनट का वक़्त लगता है.

High Security Number Plate kya hai -हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट लगाने का खर्च

हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट को गाड़ियों पर लगाने का खर्च गाड़ी पर निर्भर करता है.फोर व्हीलर गाड़ियों में हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट लगाने का अनुमानित खर्च तकरीबन 350 रुपये आता है.टू-व्हीलर गाड़ियों में हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट लगाने का अनुमानित खर्च तकरीबन 100 रूपए आता है.कमर्शियल गाड़ियों में हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट लगाने का अनुमानित खर्च तकरीबन 150 रुपये आता है.हेवी कमर्शियल गाड़ियों में हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट लगाने का अनुमानित खर्च तकरीबन 250 रूपए आता है.सभी पुराने वाहनों को हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट लगाने के लिए RTO कार्यालय में ले जाना अनिवार्य है.किसी अन्य जगह या गेराज से हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट गैरकानूनी और असुरक्षित है.

Note:-हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट लगाने के लिए जो खर्च होता है वह अलग अलग राज्यो में अलग हो सकता है.या समय के हिसाब से यह बदल सकता है.

शेयर करे !