Mehul choksi kaun hai ? मेहुल चोकसी कौन है?

Mehul choksi

Mehul choksi पीएनबी के कथित घोटाले में मुख्य आरोपी है।

नाममेहुल चोकसी
पिताचिनुभाई चोकसी
जन्म5 मई 1959
नागरिकताभारतीय -2017 तक
अण्टीगुअन-2017 के बाद
पेशा हिरा व्यापार
गीतांजली ग्रुप
भाई/बहन1)चेतनभाई चोकसी
2)गीता चोकसी
3)अंजली चोकसी
बेटा/बेटी1)रोहन चोकसी
2)मैत्रयी चोकसी
3)प्रियंका चोकसी-मेहता
अन्य रिश्तेदार1) नीरव मोदी (भांजा)

Mehul choksi kaun hai? – -मेहुल चोकसी कौन है ?

गीतांजली उद्योग समूह के मालिक मेहुल चोकसी का जन्म गुजराती जैन परिवार में 5 मई 1959 में हुआ।मेहुल चोकसी के पिता का नाम चिनुभाई चोकसी है और वे गीतांजली उद्योग के संस्थापक है। मेहुल चोकसी को एक भाई और दो बहने है।

Mehul choksi kaun hai
चेतन चोकसी और उनका पासपोर्ट

मेहुल के छोटे भाई चेतन चोकसी की ‘Diminco NV’ नाम की कंपनी है। यह कंपनी बेल्जियम के एंटवर्प में स्थित है। मेहुल चोकसी की गीता और अंजली नाम की दो बहने है,इनके ही नाम पर गीतांजली का नाम पड़ा था। मेहुल चोकसी को रोहन नाम का बेटा और मैत्रेयी और प्रियंका नाम की दो बेटिया है।हिरा व्यापारी और पीएनबी घोटाले का आरोपी नीरव मोदी मेहुल चौकसी का भांजा है।

Mehul choksi kaun hai
गीतांजली समूह

Mehul Choksi Business career- मेहुल चोकसी का शुरुवाती व्यापार

मेहुल चोकसी को पिता की कंपनी गीतांजली विरासत में मिली थी।साल 1985 को महज 25 साल की उम्र में मेहुल ने गीतांजली समूह की कमान अपने हाथ में ली। तब यह कंपनी केवल हिरे तराशने का काम करती थी। उस वक़्त गीतांजली उद्योग का सालाना टर्नओवर महज 50 करोड़ था.कंपनी की कमान अपने हाथ में लेने के बाद मेहुल चोकसी ने बड़ी तेजीसे अपने कारोबार का विस्तार किया.साल 2001 से 2005 के बीच गीतांजली उद्योग ने नक्षत्र, अस्मी, डीडमॉस और संगनी जैसे ब्रांड के साथ बाजार में कदम रखा और बडी तेजीसे मार्किट में अपनी जगह बना ली.इसीके साथ उन्होंने विदेशों में भी गीतांजली का कारोबार बढ़ाया इसके साथ उन्होंने अमेरिका में रिटेल चेन रोजर्स एंड सैमुअल, इटली की गियानती इटालिया, डीआईटी और वेलेंटा जैसे विदेशी ब्रांड को खरीद लिया था। फ़िलहाल गीतांजली समूह का टर्नओवर तक़रीबन 13 हजार करोड़ है।

Mehul choksi kaun hai
नीरव मोदी और पंजाब नेशनल बैंक

Mehul Choksi controversy – मेहुल चोकसी के विवाद

  • फरवरी 2018 में मेहुल चोकसी के भांजे नीरव मोदी पर पीएनबी में 11400 करोड़ का घोटाले का आरोप लगा और इस आरोप में मेहुल चोकसी की कंपनी गीतांजली का हाथ था। इस मामले में चंडीगढ़ कोर्ट ने नीरव मोदी को दोषी पाया है।
  • चार्जशीट दायर होने से पहले ही नीरव मोदी अपने भाई और बीवी के साथ 6 जनवरी 2018 को देश छोड़कर बेल्जियम भाग गया था और उससे पहले मेहुल चोकसी 4 जनवरी 2018 को देश छोड़ एंटिगुआ में छिप गया था।
  • मेहुल चोकसी को एंटिगुआ सरकार ने अपने देश की नागरिकता बहाल कर दी है। इसके बाद पुरे देश में बवाल हुआ।
  • मेहुल चोकसी के छोटे भाई चेतन चोकसी की कंपनी ने भी आईसीआईसीआई बैंक का 25 मिलियन अमेरिकी डॉलर का घोटाला किया है जिसके ऊपर बेल्जियम में केस दर्ज है।
शेयर करे !