Notch Display क्या होता है? Notch display kya hai ?

Notch display kya hai

Notch display kya hai – नौच डिस्प्ले क्या है ?

Notch display kya hai – इन दिनों तकरीबन हर मोबाइल कंपनी नौच डिसप्ले वाले स्मार्टफोन बाजार में उतार रही है.और यह स्मार्टफोन मार्किट में कामयाब भी हो रहे है.इस पोस्ट में बात करेंगे की आख़िर यह नौच डिसप्ले होता क्या है? और क्यों स्मार्टफोन कंपनिया इसका इस्तेमाल कर रही है.

Notch display kya hai – नौच का मतलब

Notch display kya hai
नौच डिसप्ले के साथ स्मार्टफोन

हिंदी में नौच का मतलब निशान यानी मार्क होता है.लेकिन टेकनिकल भाषा में नौच का यह मतलब नही पकड़ा जा सकता.स्मार्टफोन की भाषा में बात करे तो नौच का मतलब छोटासा चीरा यानि इंसिजन होता है.वैसे इसे चीरा कहना भी ठीक नही होगा.लेकिन नौच के लिए यही शब्द ठीक बैठता है.फूल टचस्क्रीन स्मार्टफोन में नौच किसी चीरे की तरह ही दिखता है.

इसी नौच वाले स्क्रीन के कारन डिसप्ले को “नौच डिसप्ले” कहा जाता है.जो दिखने में बेहद खूबसूरत दिखता है.इसी खूबसूरती के कारन स्मार्टफोन प्रेमियो को नौच डिसप्ले खूब पसंद आ रहा है.

Notch display kya hai – नौच डिसप्ले क्यों दिया जा रहा है ?

नौच डिसप्ले दिखने में बेहद खुबसूरत दिखता है. लेकिन इसकी खूबसूरती ही इसे बनाने के एकमात्र कारन नही है.दरअसल प्रीमियम स्मार्टफोन कंपनियों में कॉम्पिटिशन बढ़ रहा है.इस कॉम्पिटिशन में डटे रहने के लिए कंपनिया हर मुमकिन कोशिश कर रही है. कंपनी हर उस पहलू पर नजर बनाए हुए है, जिसे ग्राहक पसंद करते है.और ग्राहकों को सबसे ज्यादा बड़े स्क्रीन वाले मोबाइल फोन लुभाते है.

ग्राहक मोबाइल का प्रोसेसर,रैम, बैटरी बैकअप देखकर ही फ़ोन खरीदते है.लेकिन भारतीय बाजार में मोबाइल खरीदते वक़्त सबसे ज्यादा फ़ोन का कैमरा और डिसप्ले देखा जाता है. जितना बड़ा डिसप्ले उतना ग्राहक उसे ज्यादा पसंद करते है. इसी बात को ध्यान में देकर कंपनीया बेज़ललेस स्मार्टफोन बनाने की कोशिश कर रही है.इस कोशिश में मोबाइल कंपनिया तकरीबन कामयाब रही है.लेकिन पूरी तरह बेज़ललेस स्क्रीन बनाने में कुछ समस्या है.जिसका समाधान “नौच डिसप्ले” के रूप में ढूंढा गया है.

Notch display kya hai – समस्या की उपज है नौच डिसप्ले

Notch display kya hai
शुरुआती दौर का स्मार्टफोन

टचस्क्रीन स्मार्टफोन के शुरूआती दौर में मोबाइल स्क्रीन के निचे तीन बटन होते थे.जिसमे होम, नेविगेशन और बैक का बटन होता था.साथ ही स्क्रीन के ऊपर सेंसर,स्पीकर और सेल्फी कैमरा होता था.बेज़ललेस स्क्रीन बनाने के लिए यह तिन बटन और ऊपर के सेंसर,कैमरा,स्पीकर निकालना जरुरी था.यह सब निकालने के बाद ही स्मार्टफोन पूरी तरह से बेज़ललेस हो सकता है.

जैसे जैसे टेक्नोलॉजी आगे बढ़ी स्मार्टफोन कंपनियो इनमे से कुछ दिक्कतों का समाधान निकाल लिया.स्क्रीन के निचे के बटन अब डिसप्ले पर आने लगे. जिससे मोबाइल की निचे की स्क्रीन पूरी तरह बेज़ललेस हो गयी.निचे का माइक भी स्मार्टफोन के एकदम निचे दिया गया.फिंगरप्रिंट स्कैनर का सेंसर भी मोबाइल के बैक में दिया गया.आजकल कुछ मोबाइल फोन में फिंगरप्रिंट स्कैनर भी डिसप्ले पर ही आता है. निचे के हिस्से को बेज़ललेस बनाने में स्मार्टफोन कंपनिया कामयाब रही लेकिन ऊपर का हिस्सा अभी भी जैसे के तैसे बना रहा.

इस ऊपर के हिस्से को जीतनी कम जगह में समेटा जा सकता है,उतना समेटा गया.इस कोशिश की उपज ही नौच डिसप्ले बना.स्मार्टफोन कंपनियों ने फ्रंट कैमरा,सेंसर और स्पीकर को कम से कम जगह में समेटा.इसके लिए जीतनी जगह की जरुरत पड़ी उसे नौच कहा जाता है.सौभाग्यवश से लोगों को यह डिज़ाइन पसंद आया और मार्किट में इस डिज़ाइन ने जगह बना ली.

Notch display kya hai – नौच डिसप्ले के कुछ फायदे

  • नौच डिसप्ले का सबसे बड़ा फायदा है इसका खूबसूरत डिज़ाइन.
  • इस डिसप्ले के बदौलत ही बेज़ललेस फ़ोन का मजा मिलता है.
  • नौच डिसप्ले की वजह से स्मार्टफोन पर वीडियो देखने का मजा बढ़ जाता है.

Notch display kya hai – नौच डिस्प्ले के कुछ नुकसान

  • इस डिसप्ले का सबसे बड़ा नुकसान स्मार्टफोन पर गेम खेलने वालों को होता है.इस नौच की वजह कुछ गेम्स की डिटेल गायब हो जाती है.कई बार गेम एप्लीकेशन स्क्रीन को ऑप्टिमाइज़ करने में असमर्थ होता है.
  • इसके उपयोगकर्ता और उनके जरूरतों के हिसाब से नौच डिसप्ले के अलग अलग नुकसान हो सकते हे.
शेयर करे !