रूबेला क्या है ? Rubella kya hai ?

Rubella kya hai

रूबेला क्या है ? Rubella kya hai ?

Rubella kya hai – इन दिनों नई नई बीमारियों का नाम सामने आ रहा है. फ़िलहाल इसमें सबसे ज्यादा खतरा रूबेला का है. रूबेला एक तरह का वायरस है.इसे जर्मन खसरा के नाम से भी जाना जाता है.यह वायरस हवा के माध्यम से फैलता है.इसलिए इससे संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है.


यह भी पढ़िए:-


रूबेला का सबसे अधिक खतरा छोटे बच्चों और गर्भवती महिलाओं में को है.रूबेला वायरस शरीर में पोहचने के बाद रोग प्रतिकार शक्ति को कम कर देता है. इसलिए अगर किसी गर्भवती महिला को रूबेला का संक्रमण हो जानेपर उसके गर्भ पर इसका असर होता है. रूबेला के संक्रमण से गर्भ ने पल रहा भ्रूण दिव्यांग पैदा होने की आशंका रहती है.

रूबेला कैसे फैलता है ? – Rubella kya hai ?

यह बिमारी वायरस से फैलती है.यानि बिमारी के वायरस हवा के माध्यम से यहाँ वहा जाते है.रूबेला से संक्रमित व्यक्ति अगर खाँसता है,या फिर छींकता है तो उसके वायरस हवा में पोहंच जाते है.और इन वायरस के संपर्क में आजानेपर किसी भी स्वस्थ व्यक्ति को रूबेला की बिमारी लग सकती है.

गर्भवती महिला को अगर रूबेला का संक्रमण होता है. तब ऐसी परिस्थितियों में रक्तवाहिका के माध्यम से उसके गर्भ में पल रहे भ्रूण को भी रूबेला का संक्रमण होता है.यानि गर्भवती माँ की वजह से भ्रूण को रूबेला का संक्रमण हो सकता है.

समाज में एक गलतफहमी है की रूबेला का संक्रमण जानवरो की वजह से होता है.लेकिन यह एक मिथक है. रूबेला का संक्रमण केवल और केवल इंसानो के मार्फ़त होता है.किसी भी अन्य जिव जंतुओं की वजह से रूबेला का संक्रमण नही फैलता.

रूबेला के लक्षण – Rubella kya hai ?

इस बिमारी के लक्षण इतने शुष्म होते है की शुरुआत में इन्हें समझ पाना मुश्किल होता है.खासकर छोटे बच्चों में रूबेला के लक्षणों को समझना नामुमकिन होता है.फिर भी सावधानी के तौर पर निम्नलिखित लक्षणों के सामने आनेपर अस्पताल में जाँच करवाना जरुरी है.

शरीर पर लाल चकते आना इस बिमारी का सबसे प्रमुख लक्षण है.

सबसे पहले लाल निशान चहरे पर आते है.बादमे यह निशान गर्दन से लेकर पुरे शरीर में फ़ैल जाते है.कुछ दिनों बाद यह चकते गायब हो जाते है.

रूबेला में संक्रमित व्यक्ति को तेज बुखार आता है.संक्रमित व्यक्ति की नाक बहती रहती है.सर्दी जैसा माहौल बन जाता है.

संक्रमित व्यक्ति को तेज सिरदर्द होने लगता है.

जोड़ो में दर्द होना भी रूबेला का प्रमुख लक्षण है.खासकर जवान महिलाओं में यह लक्षण देखे गए है.

रूबेला का संक्रमण होनेपर संक्रमित व्यक्ति के आँखे लाल हो जाती है.

रूबेला से कैसे बचे – Rubella kya hai ?

इस बिमारी से बचने का सबसे आसान तरीका है संक्रमण से बचना.रूबेला का संक्रमण हो जानेपर इससे ठीक हुआ जा सकता है.लेकिन इसमें खास इलाज की जरुरत होती है. इससे अच्छा है की हम रूबेला संक्रमण न हो इसका ध्यान रखे.

रूबेला से बचने के लिए एंटीबायोटिक्स उपलब्ध है.केंद्र सरकार देश के सभी स्कूल में रूबेला का टीकाकरण करवा रही है.इस मोहीम में शामिल हो अपने बच्चों को टिका जरूर लगवाए.

रूबेला से बचने के लिए कुछ बुनियादी बातो का ध्यान रखे.जैसे कोई व्यक्ति अगर आपके आसपास खाँसता है या छींकता है तो आप उससे दूर हट जाए.अपना रुमाल नाक और मुँह पर लगा ले.ज्यादा भीड़ भाड़ वाली जगह पर न जाए. सर्दी खांसी के मरीजो से दूर रहे.

●◆★ समाप्त ★◆●

नोट:- इस आर्टिकल में लिखी गयी सभी जानकारी को लिखनें मे बेहद सावधानी बरती गयी है.फिर भी किसी भी प्रकार त्रुटि की संभावना से इनकार नही किया जा सकता. इसके लिए आपके सुझाव कमेंट के माध्यम से सादर आमंत्रित हैं.

शेयर करे !