Third party car insurance क्या होता है ?

Third party car insurance kya hai in hindi

Third party car insurance क्या है ?

Third party car insurance को थर्ड पार्टी लायबिलिटी के नाम से भी जाना जाता है. थर्ड पार्टी कार इन्शुरन्स एक तरह की बिमा पॉलिसी है.इस बिमा पॉलिसी के अनुसार,अगर आपकी कार से कोई दुर्घटना हो जाती है और किसी अन्य व्यक्ति का जीवित या आर्थिक नुकसान होता है.तो बिमा कंपनी उस दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति या उसके परिवार को मुहावजा देती है.

अगर आपके पास कार या अन्य कोई वाहन है तो आपके लिए थर्ड पार्टी कार इन्शुरन्स के बारे में पता होना जरुरी है.मोटर वेहिकल एक्ट 1988 के अनुसार सड़क पर चल रही हर कार का Third party car insurance होना जरुरी है.एक रिपोर्ट के अनुसार भारत के सडको पर चल रही 60 फीसदी गाड़ियों का Third party car insurance नही है.

भारतीय मोटर एक्ट के अनुसार गाड़ी खरीदते वक़्त गाड़ी का इन्शुरन्स किया जाता है.इसी कार इन्शुरन्स में थर्ड पार्टी कार इन्शुरन्स को भी जोड़ा जाता है.इन सभी इन्शुरन्स को जोड़ने के बाद ही गाड़ी की कीमत तय होती है.यह इन्शुरन्स कुछ साल के लिए होता है.जिसके ख़त्म होने के बाद गाड़ी के मालिक उसे रिन्यू नही कराते.ऐसे में कोई दुर्घटना हो जाने पर गाड़ी के मालिक को नुकसान उठाना पड़ सकता है.

Third party car insurance को लेकर संभ्रम

थर्ड पार्टी कार इन्शुरन्स को लेकर लोगो के मन में कुछ असमंज है.लोगो को लगता है की यह बिमा केवल कार के चालक के लिए है.जब की सच्चाई बिलकुल इसके उलटी है.थर्ड पार्टी कार इन्शुरन्स कार चालक के साथ साथ उस दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति के लिए भी है जो किसी एक्सीडेंट के चपेट में आ जाता है.यानि सड़क पर चलते हुए किसी व्यक्ति को कोई कार चालक गाड़ी ठोक देता है.तो बिमा कंपनी सड़क पर चल रहे उस व्यक्ति को मुहावजा देती है.यही थर्ड पार्टी कार इन्शुरन्स का प्रावधान है.

Third party car insurance में मुख्य तिन लोग होते है.एक होता है बिमा खरीदने वाला यानि गाड़ी का मालिक,दुसरा होता है बिमा कंपनी और तीसरा होता है दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति जिसे इन्शुरन्स मिलेगा.इसको आसान भाषा में देखा जाए तो थर्ड पार्टी कार इन्शुरन्स में तिन मुख्य पार्टी होती है.

  • फर्स्ट पार्टी – कार इन्शुरन्स खरीदने वाला
  • सेकंड पार्टी – कार इन्शुरन्स बेचने वाली कंपनी
  • थर्ड पार्टी – दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति

Third party car insurance को उदाहरण के साथ समझते है.

third party car insuranceमान लीजिए आप अपनी कार में बैठकर शहर के बाहर जा रहे है.रास्ते में एक सब्जी का ठेलावाला बैठा है. गलतिसे आपका गाड़ीके ऊपर से कंट्रोल खो जाता है और आप उस ठेलेवाले को गाड़ी ठोक देते है.ऐसे में उस ठेलेवाले को चोट आयेगी और साथ में उसका नुकसान भी हो जायेगा.इस स्थिति में third party car insurance काम करता है.

जिस ठेलेवाले को आपने गाड़ी ठोकी है उस बेचारे का तो नुकसान होगा. ऐसे में वो आपको नुकसान भरपाई माँगेगा.आप उसे अपने जेब से नुकसान भरपाई नही देना चाहते क्योंकि आपने गलतिसे गाड़ी ठोकी है. तब वह ठेलेवाला आपके खिलाफ पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करेगा और नुकसान भरपाई की मांग करेगा.ऐसी परिस्थितियों में अगर आपके पास थर्ड पार्टी कार इन्शुरन्स है तो आपको घबराने की जरुरत नही है और नही आपको अपनी जेब से नुकसान भरपाई देनी पड़ेगी.

जब यह केस कोर्ट में पोहचेगी तब Third party car insurance के तहत कोर्ट उस बिमा कंपनी को नोटिस भेजेगा जिसके पास से आपने थर्ड पार्टी कार इन्शुरन्स ख़रीदा है.कोर्ट उस इन्शुरन्स कंपनी को ठेलवाले का नुकसान भरपाई देने का आदेश देगा.ऐसे में यहाँ नाही आपका नुकसान हुआ और नही ठेलेवाले का नुकसान हुआ.ठेलेवाले को उसके नुकसान का मुहावजा मिल गया और आपको भी अपनी जेब से कुछ नही गवाना पड़ा.यही होता है थर्ड पार्टी कार इन्शुरन्स का फायदा.

Third party car insurance के लिए शिकायत कैसे करे?

third party car insurance

मान लीजिए आप सड़क पर पैदल जा रहे है और आप किसी दुर्घटना का शिकार हो जाते है.और आपको Third party car insurance के तहत नुकसान भरपाई चाहिए तो आपको कार चालक के खिलाफ एफआईआर दर्ज करानी पड़ेगी.

एफआईआर दर्ज करते समय आपके पास गाड़ी का रजिस्ट्रेशन नंबर और चालक का लाइसेंस नंबर होना जरुरी है.साथ ही कोई चश्मदीद होना भी जरुरी है.
पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज कराने के बाद आपको उस इलाके के मोटर एक्सीडेंट केस ट्रिब्यूनल में जाकर शिकायत दर्ज करानी होगी.

आपकी केस कोर्ट में पोहचने के बाद आपको साबित करना होगा की दुर्घटना कार चालक की लापरवाही की वजह से हुयी है.

कोर्ट को लगेगा की इसमें कार चालक की गलती है तब कोर्ट बिमा कंपनी को Third party car insurance के तहत आपको नुकसान भरपाई देने का आदेश देना.

आपको नुकसान भरपाई के तहत कितने रुपयो का मुहावजा मिलेगा इस बात का फैसला कोर्ट करेगा.

नोट:- मुझे उम्मीद है की आपको Third party car insurance के बारे में बेसिक जानकारी मिल गयी होगी.इस आर्टिकल को अपने दोस्तों और रिश्तेदारो को शेयर कर उन्हें भी Third party car insurance का महत्त्व बताये.

शेयर करे !