टेस्ट क्रिकेट में फॉलो ऑन क्या होता है -what is follow on in test cricket in hindi

अगर आप क्रिकेट के दीवाने है और आप क्रिकेट का हर खेल ध्यान से देखते है तो आपको टेस्ट क्रिकेट भी पता होगा.टेस्ट क्रिकेट में एक शब्द का बार बार जिक्र होता है वो है फॉलो ऑन.हम में से कई लोगो ने फॉलो ऑन के बारे में सुना तो है लेकिन हमें इसका मतलब नही पता इसलिए हम गूगल पर what is follow on in test cricket in hindi के बारे में सर्च करते है.


यह भी पढ़िए:-


आप यह आर्टिकल पढ़ रहे है इसका मतलब आपने गूगल पर what is follow on in test cricket in hindi सर्च किया है.जब आप यहाँ आ ही गए है तो आपको फॉलो ऑन के बारे में पूरी जानकारी मिल जाएँगी.फॉलो ऑन को समझने से पहले हम आपको टेस्ट क्रिकेट के कुछ नियम बता देते है.ताकि आपको फॉलो ऑन को समझने में आसानी है.

टेस्ट क्रिकेट के नियम – what is follow on in test cricket in hindi

आपके जानकारी के लिए बता दे,पहला टेस्ट क्रिकेट मैच ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बिच 15-19 मार्च 1877 को मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड ऑस्ट्रेलिया में खेला गया था.इस मैच को ऑस्ट्रेलिया ने 45 रनो से जित लिया था.आमतौर पर आंतरराष्ट्रीय टेस्ट मैच 5 दिनों का होता है.लेकिन कई मौकों पर टेस्ट मैच दो,तीन और चार दिन के भी होते है.

टेस्ट मैच में 4 इनिंग खेली जाती है.हर टीम को 2 इनिंग खेलने का मौका मिलता है.टेस्ट मैच के एक दिन के खेल में 90 ओवर होते है.एक दिन में 2 इनिंग ब्रेक होते है.इसमें एक ब्रेक 20 मिनट का टी ब्रेक होता है और दुसरा 40 मिनट का लंच ब्रेक होता है.आज के दौर में डे नाईट टेस्ट मैच खेला जा रहा है.अब रात को डिनर ब्रेक होता है.
यह तो हो गयी टेस्ट क्रिकेट की जनरल इनफार्मेशन.अब जान लेते है की फॉलो ऑन आखिर क्या होता है.( what is follow on in test cricket in hindi )

फॉलो ऑन क्या होता है – what is follow on in test cricket in hindi

what is follow on in test cricket in hindi

फॉलो ऑन का मतलब होता है पीछा करना.टेस्ट क्रिकेट में पहली टीम जब बैटिंग कर लेती है तब दूसरे टीम की बैटिंग आती है.अब अगर दूसरी टीम ट्रेल खत्म होने से पहले आलआउट हो जाए तो पहली टीम का कप्तान दूसरी टीम को फॉलो ऑन करने के लिए कहता है.यानि कप्तान बताता है की हमें बैटिंग नही करनी आप ही टारगेट का पीछा कीजिए.
अगर फॉलो ऑन करने के बाद भी दूसरी टीम टारगेट को पूरा नही कर पाती तो वह टीम हार जाती है.अगर फॉलो ऑन करने के बाद दूसरी टीम लीड कर जाती है तो पहली टीम को फाइनल टारगेट मिल जाता है.अब पहली टीम को टारगेट पूरा करना पड़ता है और अगर पहली टीम टारगेट पूरा नही कर पायी तो वो हार जाती है.

फॉलो ऑन देना और नही देना पहली टीम के कप्तान के ऊपर निर्भर करता है. अगर कप्तान चाहे तो फॉलो ऑन दे भी सकता है या फिर खुद दूसरी इनिंग ले सकता है.पहली टीम से दूसरी टीम को फॉलो ऑन देने के लिए 200 रनों का अंतर होना चाहिए.
फॉलो ऑन को आसानी से समझने के लिए आकड़ो की मदत से इसे जान लेते है.यहाँ हम भारत और पाकिस्तान का उदाहरण देकर फॉलो ऑन को समझने की कोशिश करते है.

उदाहरण से समझिए :- what is follow on in test cricket in hindi

पहला उदाहरण :-

मान लीजिए भारत और पाकिस्तान के बिच में टेस्ट क्रिकेट चल रहा है.भारत ने टॉस जीत लिया और पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया.तो मैच का स्कोर कुछ इस तरीके से रहा.


इंडिया फर्स्ट इनिंग – 600 रन
पाकिस्तान फर्स्ट इनिंग – 300 रन
पाकिस्तान सेकंड इनिंन – 200 रन
इंडिया की 100 रनों से विजय.


ऊपर वाले उदाहरण में पहले इनिंग में भारत ने 600 रन बनाए.बादमे पाकिस्तान की बैटिंग आयी और पाकिस्तान ने 300 रन बनाये.अब इस केस में भारत के पास है 300 रनो की लीड है.अगर भारतीय कप्तान चाहे तो पाकिस्तान को फॉलो ऑन दे सकता है.मान लीजिए भारत ने पाकिस्तान को फॉलो ऑन दे दिया.

अब पाकिस्तान को जीतने के लिए 300 रनों की लीड को खत्म करना होगा और भारत को टारगेट देना होगा.लेकिन अगर पाकिस्तान ने सेकण्ड इनिंग में सिर्फ 200 रन बनाए तो इंडिया यह मैच जित लेगा.उसको दूसरी इनिंग खेलने की जरुरत नही पड़ेगी.

दुसरा उदाहरण :-

अब मान लीजिए भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया और पाकिस्तान को फॉलो ऑन दिया गया.


इंडिया फर्स्ट इनिंग – 600 रन
पाकिस्तान फर्स्ट इनिंग – 300 रन
पाकिस्तान सेकंड इनिंग – 400 रन
इंडिया सेकंड इनिंग – 101 रन
भारत ने मैच जित लिया.


अब इस केस में भारत ने पहले इनिंग में 600 रन बनाये.बादमे पाकिस्तान ने 300 रन बनाये.भारत ने पाकिस्तान को फॉलो ऑन दिया.फिर पाकिस्तान ने सेकण्ड इनिंग में 400 रन बनाए तो अब भारत को 100 रनों की लीड मिल गयी.अगर भारत 100 रन नही बना पाया तो हार जायेगा.और अगर भारत 101 रन बनाएगा तो जित जायेगा.बस यही है फॉलो ऑन का नियम.

फॉलो ऑन क्यों दिया जाता है – what is follow on in test cricket in hindi

अब सवाल यह है की फॉलो ऑन क्यों दिया जाता है.इसका जवाब बड़ा आसान है.जब भी कोई टीम दूसरी टीम को फॉलो ऑन देती है इसका मतलब दूसरी टीम को लगातार दो बार बैटिंग करनी पड़ती है.इसकी वजह से बैट्समैन थक जाते है और जल्दी आल आउट हो जाते है.फॉलो ऑन का पीछा करते हुए दूसरी टीम अगर फॉलो ऑन से बच भी जाए तो भी बेहद बड़ी लीड नही बना पाती और पहली टीम को टारगेट कम मिलता है.जैसे दूसरे उदाहरण में हुआ है.

फॉलो ऑन देना और नही देना बेहद सारे कारणों पर डिपेंड होता है.हवामान, बचे हुए दिन,डे नाईट मैच इन सब पर फॉलो ऑन डिपेंड करता है.फॉलो ऑन देने के पीछे और भी कई रणनीतिक कारण हो सकते है.फॉलो ऑन को लेकर हर टीम के अपने अपने प्लान होते है अपनी अपनी स्ट्रेटेजी होती है.

●◆★ समाप्त ★◆●

नोट:- हमें उम्मीद है आपको आपका सवाल “what is follow on in test cricket in hindi” का जवाब मिल गया होगा.इस आर्टिकल में लिखी गयी सभी जानकारी को लिखनें मे बेहद सावधानी बरती गयी है.फिर भी किसी भी प्रकार त्रुटि की संभावना से इनकार नही किया जा सकता.इसके लिए आपके सुझाव कमेंट के माध्यम से सादर आमंत्रित हैं.

शेयर करे !